• Home
  • Health Products - Shrilalvat Oil

Shrilalvat Oil:

ZESTIK SHRILALVAT OIL:

BENEFITS:

जेस्टिक रतनजोत श्रीलालवट तेल एकमात्र प्राचीन आयुर्वेदिक दुर्लभ ब्रह्मर्षि तेल है। सर्वप्रथम यह तेल प्राचीन ऋषियों द्वारा नित्य पूजा व हवन-सामगी् के लिए हिमालय की अद्भुत जड़ी-बूटियों से तैयार किया गया था।श्रीलालवट तेल के नित्य प्रयोग से मनुष्य के जीवन में आने वाले उतार-चढ़ाव व परेषानियों को समाप्त किया जा सकता है। श्रीलालवट तेल की ज्योति नित्य पूजा स्थल पर प्रज्वलित करने से आपको ईष्वरीय शक्तियों का आषीर्वाद प्राप्त होता है जो नकारात्मक ऊर्जा को समाप्त करके पूरे घर के वातावरण को षुद्ध बना देता है। श्रीलालवट तेल की ज्योति जलाने से घर में शुभ कार्यो की षुरुआत होती है, घर में लक्ष्मी का वास होता है, शारीरिक व मानसिक कष्टों से मुक्ति एवं आपके जीवन में हो रही विभिन्न प्रकार की अड़चनें व सभी समस्याएंसमाप्त होने लगती है। श्रीलालवट तेल के द्वारा किये गये छोटे-छोटे उपायों से आपका भाग्य उदय होता है।

1. यदि आपको लगता है कि घर में किसी का किया कराया है, घर में जो काम करते है पूरा नही होता, काम बनता बनता रह जाता है या आपको लगता है कि आपके दुश्मन बहुत है तो आप 16 दीपक श्रीलालवट तेल के एक साथ जलाये और 16 लौंग एक-एक करके अपने सिर से उल्टे वार कर जलते हुए दीपक में डाल दें, ध्यान रहे लौंग साबुत हाने चाहिये, यह क्रिया आप शनिवार को करे।

2. यदि आप के परिवार में धन, कर्ज़ व बीमारी को लेकर कोई समस्या चल रही है तो आप श्रीलालवट तेल के एक बड़े दीपक में 16 लोहे की कील डालकर मगंलवार व शनिवार को सायंकाल के समय अपनी मनोकामना बोलकर पीपल के पेड़ के नीचे जलाकर रख दे व वापिस मुड़ कर पीछे न देखे।

अतः जेस्टिक कम्पनी के द्वारा तैयार रतनजोत श्रीलालवट तेल का दीपक घर या व्यापारिक स्थान पर जलाने से घर में सुख-समृद्धि, कारोबार में उन्नति, सुखमय वैवाहिक जीवन, परिवार में आपसी प्रेम, शुद्ध वातावरण, नजर दोष से मुक्ति इत्यादि में बहुत ही लाभदायक है।

नोटः यदि आप रतनजोत श्रीलालवट तेल का प्रयोग करते है तो पूजा स्थल पर घी या अन्य किसी तेल का प्रयोग न करे।